Sputnik V kab ayegi

नमस्कार दोस्तों। क्या आप भी जानना चाहते है की Sputnik v kab ayegi ? तो आज आपके सारे सवाल दुर होजाएंगे।

Russian Direct Investment Fund  के अनुसार (RDIF), जिसने डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज (DRL) के साथ भागीदारी की है, रूस के Sputnik V वैक्सीन को अगस्त तक भारत में व्यावसायिक रूप से लॉन्च करने की तैयारी है।

DRL ने 14 मई को भारत में वैक्सीन को सॉफ्ट-लॉन्च किया। फार्मा प्रमुख ने कहा कि स्पुतनिक वी अस्पतालों के साथ गठजोड़ के माध्यम से भारत के 50 शहरों और कस्बों तक पहुंच गया है। इसने कहा कि वे आने वाले हफ्तों में वैक्सीन को व्यावसायिक रूप से पेश करेंगे।

फिलहाल वैक्सीन Russia से आयात की जाती है। DRL को इस महीने पहली स्पुतनिक dose के लिए 30 लाख और दूसरी dose के लिए 3.6 लाख dose मिली है। शेष दूसरी खुराक के import का इंतजार है।

RDIF और DRL भारत में वैक्सीन बनाने के लिए कई भारतीय दवा कंपनियों के साथ काम कर रहे हैं। RDIF ने Gland pharma, Hetero Biopharma, Panacea Biotec, Stelis Biopharma और Virchow Biotech के साथ करार किया है। इसने वैक्सीन उत्पादन के लिए Morepen Laboratories और Serum Institute of India के साथ भी हस्ताक्षर किए हैं। RDIF को उम्मीद है कि दुनिया में स्पुतनिक उत्पादन का 50% भारत से आएगा।

RDIF के सीईओ किरिल दिमित्रीव ने एक टेलीविजन चैनल को बताया कि जल्द ही भारत में पर्याप्त मात्रा में दूसरी dose का import किया जाएगा। रूस में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे थे और रूस में स्पुतनिक टीकों की मांग चार गुना बढ़ गई थी। दिमित्रीव ने कहा कि स्पुतनिक वैक्सीन के लिए दुनिया के अन्य हिस्सों से भी मांग की जा रही थी। उन्होंने कहा कि जहां मांग आपूर्ति से आगे निकल गई है, वहीं भारत कंपनी के लिए प्राथमिकता बना रहेगा। रूस में उत्पादन बढ़ा दिया गया है और वे भारत में जितना संभव हो उतना उत्पादन करेंगे।

Virchow Biotech and Stelis Biopharma प्रत्येक वर्ष 200 मिलियन dose तक बनाएंगे। Panacea Biotech और Hetero Drugs प्रत्येक 100 मिलियन खुराक बनाएगी, जबकि Morepen ने प्रति वर्ष 500 मिलियन खुराक का उत्पादन करने का लक्ष्य रखा है। Gland Pharma 252 मिलियन डोज बना रही है। कंपनियों से 2021 की तीसरी और चौथी तिमाही में टीके देने की उम्मीद है।